15th फरवरी 2018 करंट अफेयर्स हिंदी में पढ़े!

15th February 2018 Current Affairs GK in Hindi

15th February 2018 Current Affairs GK in Hindi | Today’s GK News

हिंदी में पढ़े! || Read in English

1. नई दिल्ली में भारत रूस कृषि व्यापार सम्मेलन

मुख्य बिंदु:

  • भारत-रूस राजनयिक संबंधों के संदर्भ में पूरे वर्षभर देश स्तर पर चलने वाले उत्सव -समारोहों के हिस्से के रूप में कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय ने 2 प्रमुख कार्यक्रम आयोजित किए हैं।
  • पहला, नई दिल्ली में आयोजित भारत-रूस कृषि व्यापार सम्मेलन और कृषि संबंधों के 70 वर्ष पूरे होने के अवसर पर 14 फरवरी, 2018 को सूरतगढ़, राजस्थान में आयोजित होने वाला समारोह।
  • केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत और रूस के कृषि मंत्रालय के उप मंत्री श्री सर्जी बेलेटस्‍काई ने नई दिल्ली के पूसा में आयोजित भारत-रूस कृषि व्यापार सम्मेलन 2018 को सम्बोधित किया।
  • दोनों ही देशों के कृषि क्षेत्र से जुड़े उद्योगजगत के प्रतिनिधियों ने भी इस सम्मेलन में भाग लिया।
  • यह सम्मेलन दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंध को मजबूत बनायेगा और विशेषज्ञता के आदान-प्रदान को प्रोत्साहन प्रदान करेगा।
2. आरबीआई ने ऋण की समस्या को हल करने के लिए नए प्रस्ताव तैयार किये

मुख्य बिंदु:

  • भारतीय रिज़र्व बैंक ने तनावग्रस्त संपत्ति (Stressed Assets) को तेजी से और समयबद्ध अंतराल में रिकवर करने के लिए संसोधन तैयार किया है|
  • रिपोर्ट के मुताबिक नए फ्रेमवर्क के तहत एक्सपोजर और गैर निष्पादित परिसंपत्तियों (NPA) के समाधान के लिए बैंकों के दृष्टिकोण में एक बड़ा बदलाव लाने की क्षमता है।
  • कॉर्पोरेट ऋण का पुनर्गठन (Corporate Debt Restructuring), तनावग्रस्त परिसंपत्तियों (Sustainable Structuring of Stressed Assets ), रणनीतिक ऋण पुनर्गठन (Strategic Debt Restructuring) जैसे अन्य ऋणों का पुनर्गठन करने के लिए कार्यक्रमों को बंद कर दिया है, और दिवालियापन से निपटने के लिए मुख्य उपकरण के रूप में (Insolvency and Bankruptcy Code) लागु किया जाएगा|
  • ऋणदाताओं को अब 180 दिनों के भीतर डिफॉल्ट के लिए एक संकल्प प्लान तैयार करना होगा, असफल रहने पर खाते को दिवालियापन अदालतों (Insolvency Court) में भेजा जाएगा|
3. आईसीएआई, आभासी मुद्राओं की समस्या को हल करने के लिए अवधारणा पत्र तैयार कर रहा है

मुख्य बिंदु:

  • चार्टर्ड एकाउंटेंट्स की सर्वोच्च संस्था (ICAI) आभासी मुद्राओं के विभिन्न पहलुओं पर विचार कर रही है और इसके बारे में एक अवधारणा पत्र (concept paper) तैयार कर रही है ।
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया
  • के अध्यक्ष –(नवीन एन डी गुप्ता) के अनुसार बिटकॉइन जैसे आभासी मुद्राओं में निवेश के बारे में बढ़ती चिंताओं को, जो विश्व स्तर पर व्यापार में अस्थिरता को बढ़ा रही है, जैसी गतिविधियों को विनियमित करने के लिए भारत में अभी तक कोई ढांचा नहीं है।
  • 1-फरवरी को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था, कि सरकार क्रिप्टो-मुद्राओं को कानूनी निविदा या सिक्का नहीं मानती है, और गैर-कानूनी गतिविधियों के वित्तपोषण में या भुगतान प्रणाली के हिस्से के रूप में इन क्रिप्टो-परिसंपत्तियों के इस्तेमाल को खत्म करने के लिए सभी सभी उपाय करेगी ।
Check Today's Top Current Affairs GK QuestionsClick Here
4. भारत के उमंग ऐप, आधार ने  विश्व सरकार के विश्व स्तरीय शिखर सम्मेलन 2018 वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में पुरस्कार  जीता

मुख्य बिंदु:

  • दुबई में हाल ही में संपन्न विश्व स्तरीय शिखर सम्मेलन 2018 में भारत के आधार ने सर्वश्रेष्ठ उभरती हुई प्रौद्योगिकी पुरस्कार जीता। शिखर सम्मेलन में भारत ‘सम्मान का अतिथि’ देश था|
  • आधार परियोजना को दुनिया के सबसे बड़े बायोमेट्रिक सक्षम पहचान कार्यक्रम के रूप में पहचाना गया था, जो आयकर, पासपोर्ट सेवाओं, बैंक खातों, सामाजिक सेवाओं के लाभ का लाभ प्रदान करता है, जिसका उद्देश्य2 अरब नागरिकों को फिंगरप्रिंट, आंख-प्रिंट और अन्य महत्वपूर्ण डेटा के साथ अद्वितीय पहचान कार्ड प्रदान करना है।
  • भारत के उमंग ऐप ने सुलभ सरकार श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ एम-सरकारी सेवा पुरस्कार जीता।
  • यह पुरस्कार उप प्रधान मंत्री और यूएई के सैफ सैफ बिन जयाद अल नाहयान के गृह मंत्री द्वारा प्रस्तुत किए गए थे।
  • इस शिखर सम्मेलन में कई वैश्विक प्रतिनिधियों और वक्ताओं ने भाग लिया था जिसमें सरकारों के प्रमुख और 16 अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों शामिल थे।
  • विश्व सरकार के शिखर सम्मेलन का 6 वां संस्करण 13 फ़रवरी 2018 को संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम में 140 से अधिक देशों ने भाग लिया।
5. वैज्ञानिकों ने पर्माफ्रॉस्ट में पारा के विशाल भंडार की खोज की है

मुख्य बिंदु:

  • वैज्ञानिकों ने पर्माफ्रॉस्ट में छुपा पारा के विशाल भंडार की खोज की है। पर्माफ्रॉस्ट मिट्टी की एक मोटी उपसतह परत है, जो पूरे वर्ष में ठंड बिंदु से बनी हुई है, मुख्यतः ध्रुवीय क्षेत्रों में होती है।
  • यह अध्ययन जियोफिजिकल रिसर्च लेटर्स, द अमेरिकन जियोफिजिकल यूनियन की एक पत्रिका में प्रकाशित हुआ था।
  • 2004 और 2012 के बीच, शोधकर्ताओं ने अलास्का में विभिन्न साइटों से 13 पर्माफ्रॉस्ट मिट्टी के कोर को छिद्रित किया, और प्रत्येक कोर में कुल मात्रा में पारा और कार्बन मापा।
  • अध्ययन में लगभग 793 गीगाग्राम्स पाए गए हैं, या उत्तरी पर्माफ्रॉस्ट मिट्टी में पारा के 15 मिलियन से अधिक गैलन जमी हैं। अध्ययन में यह भी पाया गया कि उत्तरी पर्माफ्रॉस्ट क्षेत्रों में सभी जमी और जमी हुई मिट्टी में पारा के एक संयुक्त 1656 गीगाग्राम्स होते हैं, जिससे यह ग्रह पर पारा का सबसे बड़ा ज्ञात जलाशय बन जाता है।

Read Also:

14th Feb Current Affairs

13th Feb Current Affairs

12th Feb Current Affairs

11th Feb Current Affairs

10th Feb Current Affairs

9th Feb Current Affairs

8th Feb Current Affairs

7th Feb Current Affairs

6th Feb Current Affairs

5th Feb Current Affairs

3rd Feb Current Affairs

2nd Feb Current Affairs

1st Feb Current Affairs

January Current Affairs in Hindi || Daily GK News

"Drop your suggestions in below comment box, So we can help you in a better way"


WE KNOW WHAT’S UPCOMING

One Response

  1. Surjeet Singh Feb 15, 2018

Add Comment