2nd November 2017 Today Current Affairs, Daily GK Updates in Hindi

Today Current Affairs

2nd November 2017 Current Affairs | हिंदी करंट अफेयर्स

हिंदी में पढ़े! || Read in English

1. HOSTAC लागू करेंगे भारत, अमेरिका

मुख्य बिंदु:

  • समुद्री सुरक्षा को मजबूत करने के प्रयासों के तहत भारत और अमेरिका ने “ हेलीकाप्टर ऑपरेशन फॉर शिप्स अदर देन एयरक्राफ्ट कैरियर “ (HOSTAC) को लागू करने पर सहमति व्यक्त की है !
  • भारत US समुद्री सुरक्षा को मजबूत करने के लिए HOSTAC को लागू करेंगे!
  • यह निर्णय भारतीय रक्षा मंत्री, सुश्री निर्मला सितारारामन और अमेरिका के रक्षा सचिव जिम मैटीस के बिच एक बैठक के दौरान किया गया था!
2. इंडो-रूस संयुक्त अभ्यास इंड्रा 2017 सफलतापूर्वक आयोजित

मुख्य बिंदु:

  • भारत और रूस ट्राई-सर्विसेज का अभ्यास “व्लादिवोस्तक” में रूस में सफलतापूर्वक आयोजित किया गया है।
  • इस अभ्यास का इस साल का विषय था “संयुक्त राष्ट्र जनादेश के तहत एक मेजबान देश के अनुरोध पर अंतर्राष्ट्रीय आतंक गतिविधि के दमन के लिए एक संयुक्त बल द्वारा संचालन की तैयारी और संचालन”।
3. एसबीआई ने सौर ऊर्जा परियोजनाओं के लिए 2,317 करोड़ रुपये मंजूर किए

मुख्य बिंदु:

  • पब्लिक सेक्टर बैंक एसबीआई ने ग्रिड कनेक्टेड रूफटॉप सौर परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए रुपये 2,317 क्रेडिट सुविधा को मंजूरी दी।
  • यह परियोजना एसबीआई विश्व बैंक कार्यक्रम के तहत किया गया था।
  • मंजूर फंड 575 मेगावाट की सौर ऊर्जा क्षमता बनाने में मदद करेगा।
4. अबे शिंज़ो फिर से बने जापान के प्रधान मंत्री, 2012 से संभाल रहे है ये पद

मुख्य बिंदु:

  • दो तिहाई वोटो से जीत की अपने नाम
  • 57th प्राइम मिनिस्टर है जापान के
  • लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के है सदस्य
  • 2006 में भी रह चुके है प्रधान मंत्री
5. दुनिया का सबसे तेज़,  छोटा लेज़र पल्स तैयार

मुख्य बिंदु:

  • स्विट्जरलैंड के वैज्ञानिकों ने केवल 43 एटोसेकेंड की अवधि के साथ दुनिया का सबसे छोटा लेजर पल्स पैदा करने में सफलता प्राप्त की है।
  • यह लेजर पल्स छोटा घटना नियंत्रित है जो मनुष्यों द्वारा बनाई गई है| इसकी खोज स्विट्जरलैंड में ईथ ज्यूरिख के शोधकर्ताओं द्वारा की गई थी।
  • कैसे इलेक्ट्रॉन एक अणु में चलते हैं या रासायनिक बांड कैसे बनते हैं इन सब के जानकरी अब लेज़र पल्स से ज्ञात होगा|
  • अणुओं को पिकोसेकेंड की रेंज में घुमाया जाता है, उनके परमाणु फेम्टोसेकण्ड्स की श्रेणी में कंपन होते हैं, और इलेक्ट्रॉनों एटॉसेकंड की श्रेणी में आगे बढ़ते हैं।
  • एटोसेकंड स्पेक्ट्रोस्कोपी अधिक कुशल सौर कोशिकाओं के विकास में योगदान कर सकता है, पहली बार यह कदम बिजली की पीढ़ी के लिए सूर्य के प्रकाश के माध्यम से उत्तेजना की प्रक्रिया का पालन करने के रूप में संभव होगा।
  • लेसर पल्स का उपयोग रासायनिक प्रतिक्रिया को बदलने के लिए भी किया जा सकता है। यहां तक कि अणु में एक निश्चित स्थान पर चार्ज बदलाव को रोककर रासायनिक बंध को तोडा भी जा सकता है।

Read Also:

01st Nov Current Affairs

31st Oct Current Affairs

30th Oct Current Affairs

29th Oct Current Affairs

28th Oct Current Affairs

27th Oct Current Affairs

26th Oct Current Affairs

25th Oct Current Affairs

October Current Affairs in Hindi || Daily GK News



Stay Informed and Stay CONNECTED with us...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here